कानपुर में 2 महीने में लव जिहाद के 11 केस दर्ज हुए, ये इत्तिफाक या कोई साजिश? जांच के लिए एसआईटी का गठन

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में बीते दो महीने में पांच थाना क्षेत्रों में लव जिहाद के 11 मामले सामने आए हैं। पीड़ित परिजन आरोपियों पर बरगलाकर धर्म परिवर्तन कराकर शादी करने का आरोप लगा रहे हैं। ऐसे में कुछ सामाजिक संस्थाओं ने इसे साजिश करार दिया है। इस प्रकरण की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया है। एसआईटी का प्रभारी एसपी साउथ दीपक भूकर को बनाया है। उन्हें जल्द से जल्द जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करनी है।

सभी मामलों में एक बात कॉमन- धर्म परिवर्तन कराया गया
कानपुर में लव जिहाद का पहला मामला दो जुलाई को बर्रा थाने में दर्ज हुआ था। इसके बाद इसी प्रवृत्ति के 10 मामले थाना चकेरी, पनकी और कानपुर दक्षिण और थाना महाराजपुर में पंजीकृत हुआ है। सभी मामलों में धर्म परिवर्तन करके शादी करने की बात सामने आई है। जिसको लेकर जहां पीड़ित परिजन लगातार बरगलाकर लड़कियों के धर्म परिवर्तन का आरोप लगा रहे हैं तो वहीं कुछ सामाजिक संस्थाएं इसे साजिश करार दे रही हैं। यह भी आरोप है कि इस काम में बाहरी संगठन इन युवकों की मदद कर रहे हैं। मामले को बढ़ता देख अब पुलिस ने भी अपने तेवर सख्त कर लिए हैं।

कहीं साजिश तो नहीं?
आईजी मोहित अग्रवाल के द्वारा गठित की गई एसआईटी की जांच तेजी के साथ आगे बढ़ रही है। इस बात की भी जानकारी कि जा रही है कि ऐसे प्रकरणों के पीछे अगर कोई साजिश है तो इस साजिश को रचने वाले कौन-कौन लोग हैं और इन लोगों को फंडिंग कहां से हो रही है। साथ ही साथ इस बात की पड़ताल भी की जाएगी कि ऐसी घटनाओं के पीछे किसी अन्य संगठन का हाथ तो नहीं है जिसके लिए आरोपियों के बैंक खातों पर भी नजर रखी जा रही है।

क्या बोले आईजी कानपुर?
आईजी कानपुर मोहित अग्रवाल ने बताया कि अभी तक जितने भी मामले लव जिहाद के सामने आए हैं सभी को देखते हुए एसआईटी का गठन किया गया है और एसआईटी को लव जिहाद पीछे के सभी बिंदुओं पर जांच करके अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करनी है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
कानपुर में लव जिहाद से जुड़े 10 मामले तीन थाना क्षेत्र चकेरी, पनकी और कानपुर दक्षिण, महाराजपुर व एक मामला बर्रा में पंजीकृत हुआ है।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला