दलितों की हत्याओं कों लेकर सड़क पर उतरी 'आप'; कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन, पुलिस से तीखी झड़प

उत्तर प्रदेश के ‌लालगंज, रायबरेली में पुलिस कस्टडी में पुलिस की बेरहमी से की गई पिटाई से दलित युवक की हत्या और यूपी में जगह-जगह हो रही दलितों की हत्याओं को लेकर आम आदमी पार्टी की एससी-एसटी विंग ने राजधानी लखनऊ में जीपीओ, हजरतगंज में विरोध प्रदर्शन किया। कार्यकर्ता सड़क पर ही बैठकर सरकार विरोधी नारेबाजी करने लगे। इसी बीच पुलिस और कार्यकर्ताओं में तीखी नोकझोंक हो गई, जिसके बाद पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया।

एससीएसटी विंग के प्रदेश महासचिव इंद्रेश सोनकर ने कहा कि योगी सरकार के राज में उत्तर प्रदेश दलितों के लिए कब्रगाह बन चुका है। आए दिन दलितों की हत्या की जा रही हैं। लालगंज रायबरेली में एक दलित युवक को पुलिस ने अवैध तरीके से 3 दिन तक कस्टडी में रखा और बेरहमी से पिटाई की जिसके दौरान उस दलित युवक की मौत हो गई। आगरा में दलित परिवार के पति, पत्नी और उसके बेटे की हत्या कर दी गई और शव को जलाने का प्रयास किया गया। लखीमपुर में एक दलित बच्ची से गैंगरेप कर आंखें निकालकर बर्बरतापूर्ण तरीके से हत्या कर दी गई।

प्रदेश प्रवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया रायबरेली लालगंज में मृतक के परिवार से सोमवार को यूपी प्रभारी राज्यसभा सांसद संजय सिंह मिलने गए थे उन्होंने सरकार से मांग की है पुलिस अधीक्षक को तत्काल निलंबित किया जाए दोषी पुलिसकर्मियों के ऊपर हत्या का मुकदमा दर्ज हो और पीड़ित परिवार को 50 लाख का मुआवजा दिया जाए।

प्रदर्शन में एससी-एसटी विंग के प्रदेश उपाध्यक्ष सम्राट विनोद कुमार बौद्ध, ओमकार सिंह, विनोद खटिक, रामजी लाल, ललित वाल्मीकि, विनय, तुषार, हरिशंकर, आकाश दीवान, कृष्णा चौधरी सनी कुमार, मोहित कुमार, विकास कुमार, विनोद चौधरी, अमित चौधरी, अंकित कुमार, पवन कुमार अश्वनी सहित कई कार्यकर्ता शामिल हुए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
हजरतगंज में जीपीओ कार्यालय पर धरना प्रदर्शन करते आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला