किशोर न्यायालय ने रेलवे अफसर की बेटी को पुलिस हिरासत में घर रहने की दी अनुमति, पिता ने किया था अनुरोध; आवास पर शादी वर्दी में तैनात रहेंगी महिला पुलिसकर्मी

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 15 वर्षीय किशोरी ने अपनी मां और भाई की गोली मारकर हत्या कर दी थी। घटना के बाद से ही लखनऊ के पॉश इलाके में अफरा तफरी मच गई थी। घटना के बाद अब किशोर न्यायालय ने किशोरी के पिता के उस अनुरोध को स्वीकार कर लिया है, जिसमें उन्होंने अदालत से आग्रह किया था कि बच्ची को उनके घर में ही पुलिस हिरासत में रहने की अनुमति दी जाए क्योंकि डिप्रेशन के समय उसे इमोशनल सपोर्ट की आवश्यकता है।

राजधानी लखनऊ में गत शनिवार को रेलवे के अफसर आर डी वाजपेयी की बेटी ने अपनी मां और भाई की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया था जहां से उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। बताया जा रहा है कि वह काफी दिनों से डिप्रेशन के दौर से गुजर रही है।

पिता ने अदालत से किया अनुरोध, पुलिस ने नहीं किया विरोध

इस मामले को लेकर हजरतगंज के एसीपी राघवेंद्र सिंह ने कहा, " मामले की सुनवाई के दौरान हमने अदालत को बताया कि यह रेयरेस्ट ऑफ रेयर कैटेगरी का मामला है। इसलिए पुलिस को इस बात पर कोई आपत्ति नहीं है, यदि अदालत किशोरी के पिता के अनुरोध को मानवीय आधार पर स्वीकार करते हुए पुलिस हिरासत में उसके घर में रहने का आदेश देती है। '' पुलिस ने हालांकि आरोपी किशोरी को किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज के बाल मनोरोग विशेषज्ञ को भी दिखाया था।

बाद में अधिकारियों ने किंग जॉर्ज मेडिल कॉलेज के चिकित्सकों एवं विशेषज्ञों से इस किशोरी की मानसिक स्थिति को समझने के लिए सलाह ली थी। इस बीच सूत्रों का कहना है कि चिकित्सकों ने भी अधिकारियों को यह मशविरा दिया था कि बच्ची को भावनात्मक सपोर्ट की आवश्यकता है।

महिला पुलिसकर्मियों के मुताबिक पिता के साथ सहज महसूस करती है किशोरी

नाबालिग के घर पर तैनात एक महिला पुलिस कर्मी ने कहा, "उसके पिता हालांकि किशोरी को इस बात के लिए जिम्मेदार नहीं मानते जो भी उसने किया है। वह उनकी उपस्थिति में सहज महसूस करती है और यहां तक ​​कि उनसे अपने लिए पियानो बजाने के लिए भी कहती है।

गौरतलब है कि लखनऊ में विवेकानंद मार्ग स्थित आवास पर किशोरी ने .22 बोर की पिस्टल से 47 साल की मां और 17 साल के भाई की गोली मारकर हत्या कर दी थी। बाद में किशोरी ने परिजनों की मौजूदगी में यह बात कबूली थी कि उसी ने ही दोनों की हत्या की है। पुलिस ने जांच के दौरान यह पाया था कि किशोरी ने अपने बाथरुम के सीसे पर जैम से डिस्क्वालीफाइड ह्यूमन लिखा था। इस घटना के बाद पुलिस ने रेलवे अफसर की पत्नी और बेटे की हत्या के लिए अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
लखनऊ में गौतमपल्ली कॉलोनी में स्थित रेलवे अफसर आर डी वाजपेयी के घर पर ही उनकी बेटी ने अपनी मां और भाई की हत्या कर दी थी। फाइल फोटो

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला