डा.कफील की रिहाई पर अखिलेश यादव को याद आए आजम खान, बोले-उम्‍मीद है उन्‍हें भी जल्‍द न्‍याय मिलेगा

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने हाईकोर्ट के आदेश के बाद मंगलवार की देर रात डॉ. कफील की रिहाई को लेकर खुशी जताई है। बुधवार सुबह एक ट्वीट में उन्‍होंने कहा कि डॉ. कफील की रिहाई का देश-प्रदेश के सभी इंसाफ पसंद लोगों ने सहर्ष स्वागत किया है। इस मौके पर उन्होंने सपा नेता आजम खान को याद करते हुए कहा कि उम्मीद है उन्हें भी जल्द ही न्याय मिलेगा।

इस मौके पर सपा के वरिष्‍ठ नेता और सांसद आजम खान को याद करते हुए अखिलेश ने उन्‍हें फर्जी मुकदमों में फंसाए जाने का आरोप लगाया। अपने ट्विटर हैंडल पर उन्‍होंने लिखा कि उम्‍मीद है कि झूठे मुकदमों में फंसाए गए आजम खान को भी शीघ्र ही न्‍याय मिलेगा। सत्ताधारियों का अन्याय और अत्‍याचार हमेशा नहीं चलेगा।

सीतापुर जेल में बंद हैं आजम खान
आजम खां इस वक्‍त सीतापुर की जेल में बंद हैं। किसानों की जमीन जबरन हथियाने से लेकर किताब चोरी तक के कई मुकदमे उनके खिलाफ दर्ज हैं। इसके पहले 14 अगस्‍त को आजम खां के जन्मदिन पर भी अखिलेश यादव ने उन्‍हें बेगुनाह बताते हुए शायराना अंदाज में अपनी बात कही थी। अखिलेश ने अपने ट्विटर पर लिखा था- 'झूठ के कितने जाल बिछा लो सच तो फिर भी आज़ाद रहेगा।'

एनएसए के तहत कफील खान को मथुरा जेल भेजा गया था

डॉ. कफील खान पर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में 13 दिसंबर 2019 को भड़काऊ भाषण देने का आरोप था। यूपी पुलिस ने उन्हें जनवरी में मुंबई से गिरफ्तार किया था। बाद में अलीगढ़ कलेक्टर ने नफरत फैलाने के आरोप में उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत कार्रवाई की। फरवरी में उन्हें फिर गिरफ्तार कर मथुरा जेल भेज दिया गया। इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर उन्हें रिहा किया गया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने डॉ कफील की रिहाई पर संतोष व्यक्त किया है। हालांकि उन्होंने उम्मीद जताई है कि आजम खान को भी जल्द ही न्याय मिलेगा।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला