लेनदेन के विवाद में अगवा करने के बाद हुआ था मर्डर, मुरादाबाद से 100 किमी दूर फेंका था शव, तीन हत्यारे पकड़े गए

उत्तर प्रदेश की मुरादाबाद पुलिस ने पांच दिन पहले राजस्थान के मार्बल कारोबारी के अपहरण व उसकी हत्या प्रकरण का खुलासा किया है। हत्या के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। कारोबारी की हत्या पैसों के लेनदेन को लेकर की गई थी। हत्या के बाद व्यापारी का शव कार में ले जाकर 100 किमी दूर हापुड़ में फेंक आए थे। आरोपियों की गिरफ्तारी सिविल लाइन क्षेत्र से हुई है। 14 अक्टूबर की शाम कारोबारी का इसी क्षेत्र से अपहरण हुआ था। अगले दिन उसका शव मिला था।

कारोबारी रंजिश में दिया हत्याकांड को अंजाम

एसपी सिटी अमित कुमार आनंद ने बताया कि मुरादाबाद का मार्बल कारोबारी यशांक गोयल उर्फ चुन्नू का कांट रोड पर सिद्धबली स्टोन गैलरी नाम से कारोबार है। शशांक मार्बल के अलावा पत्थर सफाई का कार्य ठेके पर करता है। उसका राजस्थान के रहने वाले कारोबारी लाखन से पिछले दो साल से पैसे के लेनदेन को लेकर विवाद चल रहा था। दोनों ने शिवम नर्सिंग होम में मार्बल लगाने का ठेका लिया था, तभी पेमेंट को लेकर उनके बीच में विवाद हो गया था। लाखन ने यशांक का पूरा बिजनेस चौपट कर दिया था। उसने सीधे पत्थर राजस्थान से मंगवाना शुरू कर दिया और ठेके भी स्वयं लेने शुरू कर दिए थे। ऐसे में यशांक उससे बदला लेना चाहता था।

14 अक्टूबर को लाखन रामगंगा विहार में मिटाउन होटल के पीछे काम कर रहा था। यशांक ने अपने यहां काम करने वाले मोहम्मद साजिद के द्वारा लाखन को कॉल करके मिटाउन होटल पर एक नए काम का ठेका देख लेने के लिए बहाने से बुलाया। यशांक ने साजिद और ड्राइवर की मदद से हाथ पैर बांध दिए और मारना पीटना शुरू कर दिया। यशांक ने जोर से उसके मुंह पर हाथ रख दिया और उसे तब तक दबाए रखा जब तक हिलना डुलना बंद नहीं कर दिया। शरीर में हरकत बंद होने के बाद उसके हाथ-पैर में खोल दिया। अंधेरा होने पर यशांक ने लाखन के शव को हापुड़ जिले में गढ़ का टोल पार करने के बाद रास्ते में फेंक दिया। मोबाइल डिटेल मिलने के बाद तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में तीनों ने हत्या करना कबूल किया है।

14 अक्टूबर की शाम सिविल लाइन से हुआ था अगवा
राजस्थान के करौली जिले के सीकरगंज वार्ड नंबर आठ निवासी मार्बल कारोबारी लाखन 14 अक्टूबर की शाम मुरादाबाद में सिविल लाइन थाना क्षेत्र के रामगंगा विहार से अचानक लापता हुए थे। उनके छोटे भाई उदय ने थाने में गुमशुदगी का मामला भी दर्ज कराया था। लेकिन अगले दिन 15 अक्टूबर को उनका शव हापुड़ जिले में गढ़ कोतवाली क्षेत्र के मध्य गंगा नहर पटरी पर पड़ा मिला था। इसके बाद मृतक के भाई ने कारोबारी रंजिश में हत्या का अंदेशा जताया था। कहा था कि बाजार भाव से कम रेट में काम करने को लेकर कारोबारी रंजिश में उनके भाई की हत्या की गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो मुरादाबाद की है। पुलिस ने राजस्थान के मार्बल कारोबारी की हत्या में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला