अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला

सीतापुर स्थित रिजेंसी पब्लिक स्कूल संचालकों ने देश में व्याप्त लॉकडाउन के दौरान बच्चों को ऑनलाइन शिक्षण उपलब्ध कराने के एवज में अभिभावकों से न सिर्फ पूरी फीस वसूली बल्कि इस दौरान कार्यरत अध्यापकों व अन्य कर्मचारियों को पहले तो आधा वेतन दिया और बाद में काम से ही निकाल दिया।

मालूम हो कि जनपद सीतापुर में रिजेंसी पब्लिक स्कूल की तीन शाखायें स्थित है। इन्हीं शाखाओं में से एक विजयलक्ष्मीनगर स्थित शाखा से एक अध्यापक की, निकट बस अड्डा कैम्पस की शाखा से सात अध्यापकों की छुट्टी अब तक यह कहते हुये की जा चुकी है कि स्कूल संचालक शिक्षकों को वेतन देने में असमर्थ हैं; जबकि स्कूल संचालकों द्वारा बच्चों के अभिभावकों से पूर्ण शिक्षण शुल्क वसूला जा रहा है। काम से हटाये गये इन शिक्षकों का कहना है कि उनको माह अप्रैल से ही आधा वेतन ही मिल रहा था और अब काम से ही हटा दिया गया। उन्होंने यह भी कहा कि इस स्कूल में कार्यरत समस्त आयाओं की छुट्टी भी मार्च माह में ही कर दी गई थी, जिससे उनके सामने रोजी-रोटी का व्यापक संकट उत्पन्न हो गया। इन शिक्षकों ने कल एक अन्य मामले में स्कूल संचालकों द्वारा निकाले गये दो अन्य शिक्षकों को पहले निकाले जाने और फिर उन्हें वापस काम पर रख लेने की ओर इशारा करते हुये स्कूल संचालकों पर यह आरोप लगाया कि उन शिक्षकों की वापसी इसिलिए सुनिश्चित हुई क्योंकि निकाले गये ये शिक्षक मुस्लिम थे और स्कूल संचालक एम एफ ज़ैदी भी मुस्लिम। स्कूल संचालक उन्हें काम से निकाल कर सामुदायिक असन्तोष नहीं उत्पन्न करना चाहते थे। बहरहाल जो भी हो निकाले गये इन शिक्षकों के समक्ष अब अपनी जिजीविषा चलाने का संकट आन पड़ा है, जिससे शायद अब इन्हें स्वयं ही निबटना होगा।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ