अल्पसंख्यक मंत्री मोहसीन रजा ने महबूबा मुफ्ती को दी नसीहत, कहा- वह पाकिस्तान की भाषा बोल रही हैं, बेहतर हो वहीं चली जाएं

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने का विरोध करने वाली जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को सलाह दी है कि पाकिस्तान चली जाएं। अनुच्छेद 370 और तिरंगे को लेकर उनके एलान पर मोहसिन रजा ने कहा कि महबूबा मुफ्ती इमरान खान और राहुल गांधी की भाषा बोल रही हैं।

योगी सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा कहा, "नजरबंदी से बाहर आकर महबूबा मुफ्ती ने जिस प्रकार की भाषा बोली है, साफ दर्शाता है कि वह पाकिस्तान और कांग्रेस की भाषा बोल रही हैं। ये लोग 'भारत तेरे टुकड़े होंगे' गैंग के लोग हैं। ये कभी नहीं चाहते हैं कि अखंड भारत और भाईचारा बना रहे।''

मोदी सरकार राष्ट्रहित में लिए गए फैसले से पीछे नहीं हटती

उन्होंने कहा कि महबूबा मुफ्ती प्रेस कांफ्रेंस से साफ हो गया है कि इनकी यहा चाहत है। उन्होंने कहा कि देश में भाजपा की सरकार है। हम राष्ट्रहित में जो फैसले ले लेते हैं, उससे पीछे नहीं हटते हैं। मोहसिन रजा कहा कि महबूबा मुफ्ती कश्मीर में अनुच्छेद 370 वापस लागू करने की चाहत दिल में लेकर चली जाएंगी, लेकिन अब यह हो नहीं सकता है। इसलिए बेहतर है कि वह पाकिस्तान जाने का निर्णय ले लें, जो ज्यादा बेहतर होगा।

महबूबा मुफ्ती ने कहा था- अनुच्छेद 370 वापस लेकर रहेंगे

दरअसल इससे पहले शुक्रवार को जम्मू और कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर में कई मुद्दों पर खुलकर बात की। उन्होंने कहा कि हम अनुच्छेद 370 वापस लेकर रहेंगे। उन्होंने यह भी एलान किया कि जब तक ऐसा नहीं हो जाता, वो कोई भी चुनाव नहीं लड़ेंगी। महबूबा मुफ्ती ने तिरंगे को लेकर भी बड़ा एलान किया कि 'मैं जम्मू-कश्मीर के अलावा दूसरा कोई झंडा नहीं उठाऊंगी।'



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
उप्र सरकार के मंत्री मोहसीन रजा ने शुक्रवार को कहा कि नजरबंदी से बाहर आकर महबूबा मुफ्ती ने जिस प्रकार की भाषा बोली है, साफ दर्शाता है कि वह पाकिस्तान और कांग्रेस की भाषा बोल रही हैं।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला