मौलाना कल्बे जव्वाद ने कहा- पैगंबर हज़रत मुहम्मद का अपमान करना निंदनीय और असहनीय है

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मजलिसे उलेमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना कल्बे जवाद ने आज फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन द्वारा पैगंबर हज़रत मोहम्मद मुस्तफा के अपमान की कड़ी निंदा करते हुए बयान जारी किया। मौलाना ने कहा कि फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रोन का बयान आया है कि फ्रांस पवित्र पैगंबर के कार्टून बनाने की प्रक्रिया को जारी रखेगा, निंदनीय और असहनीय बयान है। यूरोप जो खुद को धर्मनिरपेक्ष और उदारवादी कहता है यह उसकी मुनाफिकाना नीति का सबूत है।

मौलाना ने कहा कि मैक्रोन ने पहले भी कहा है कि इस्लाम वैश्विक संकट से पीड़ित है, अगर ऐसा है तो इस्लाम यूरोप में तेज़ी से क्यों फैल रहा है। मैक्रोन के बयान उनकी बीमार मानसिकता का प्रतीक हैं और वह लोगों को मुसलमानों के खिलाफ भड़काना चाहते हैं।

फ्रांस के राष्ट्रपति मोहम्मद साहब के चरित्र से अनजान

मौलाना ने कहा कि जो लोग पैगंबर हज़रत मोहम्मद के चरित्र और उनकी सीरत से अनजान हैं, वो ही ऐसा निन्दात्मक बयान दे सकते हैं। फ्रांसीसी राष्ट्रपति इस्लामो फोबिया का शिकार हैं और अपनी चरमपंथी मानसिकता का इज़हार कर रहे हैं। मौलाना ने कहा कि यूरोप इस्लामोफोबिया का शिकार है। युवा पीढ़ी मैक्रोन जैसे इस्लामो फोबिया से पीड़ित लोगों के शब्दों पर कम ध्यान देती है, युवा पीढ़ी अनुसंधान और अध्ययन में रुचि रखती है और जिसने भी इस्लाम और पैगंबर हज़रत मोहम्मद की सीरत और उनकी जिंदगी का अध्ययन किया है। वह लोग प्रभवित हुए बिना नहीं रह सके।

मौलाना ने कहा कि सभी इस्लामिक देशों को एकजुट होकर फ्रांसीसी अधिकारियों के बयानों की निंदा करनी चाहिए और अगर वह माफी नहीं मांगते हैं, तो उनके साथ संबंध तोड़ लेने चाहिए। पैगंबर हज़रत मोहम्मद के प्रति अपने प्यार और वफादारी को प्रदर्शित करना चाहिए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मौलाना कल्बे जव्वाद ने फ्रांस के राष्ट्रपति द्वारा पैगम्बर साहब को लेकर दिए गए बयान की निंदा करते हुए कहा है कि ऐसे बयान के खिलाफ इस्लामिक देशों को एकजुट होना चाहिए।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला