वाराणसी में 13 साल पहले हुए कचहरी ब्लास्ट की बरसी पर अधिवक्ताओं ने मोमबत्ती जलाकर शहीदों को श्रद्धांजलि दिया, सुरक्षा और बढ़ाने की मांग किया

कचहरी ब्लास्ट के 13वी बरसी पर अधिवक्ताओं ने घटना स्थल पर सोमवार को मोमबत्ती जलाकर पांच मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दिया। बनारस बार के अध्यक्ष मोहन यादव, महामंत्री अरुण कुमार, सेंट्रल बार के अध्यक्ष प्रेम शंकर पांडेय भी श्रद्धांजलि सभा मे शामिल हुए। अधिवक्ताओं ने चारों मुख्य द्वारों पर प्रॉपर चेकिंग, आने जाने वालों का विवरण के साथ सुरक्षा को और पुख्ता करने का मांग किया।

मुख्य अभियुक्तों को आज तक पकड़े न जाने से अधिवक्ता समाज नाराज दिखा

बनारस बार एसोसिएशन के पूर्व महामंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि दीवानी और कलेक्ट्रेट परिसर में सीरियल ब्लास्ट हुआ था। उसके गुनहगार आज तक पकड़े नही गये। दीवानी परिसर में मेटल डिटेक्टर और बाउंड्री वाल ऊंचा हो रहा है। कलेक्ट्रेट परिसर आज भी वैसे ही है। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को कई बार पत्र लिखा गया कुछ भी नही हुआ।

हजारों अधिवक्ताओं के बीच कोई भी संदिग्ध आसानी से आ सकता है। सुरक्षा को लेकर प्लान होना चाहिए। 23 अप्रैल 2016 को परिसर में जिंदा बम मिला था। 21 फरवरी 2018 को असामाजिक तत्वों द्वारा सुतली बम रखकर दहशत की स्थिति बनाई गई थी।सीसीटीवी कैमरों से परिसर को लैस करना चाहिए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मायावती की सरकार में उस समय सुरक्षा के तमाम दावों को किया गया था। 23 अप्रैल 2016 को कचहरी परिसर में जिंदा बम मिला था।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला