कोविड-19 से बेखौफ लोग; 10 घंटों की जेल का भी भय नहीं, गाइडलाइन की जमकर उड़ रही धज्जियां

देश-प्रदेश में दोबारा कोरोना पैर पसार रहा है। सरकारें चिंतित हैं लेकिन लोग बेखौफ हैं। जिले में श्रम विभाग से जुड़े एनजीओ के रजिस्ट्रेशन कैंप में पहुंचे श्रमिकों ने कोविड-19 गाइडलाइन का जमकर उल्लंघन किया। एक दो लोगों को छोड़कर किसी भी श्रमिक ने मास्क नहीं लगाया था। न ही वे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया। जिले के मोतिगरपुर ब्लॉक के खैरहा गांव स्थित प्राइमरी स्कूल में श्रमिकों की भारी भीड़ दिखी।

बिना मास्क घूमने वालों पर लग रहा जुर्माना

जिले के कप्तान जहां बिना मास्क के चलने वालों के खिलाफ जुर्माना कर रहे हैं और लोगों को 10 घंटे की हवालात भेज रहे हैं। लेकिन जिले के अंदर एनजीओ में पहुंची भीड़ की जानकारी अधिकारियों को क्यों नहीं हो पा रही है? क्या जिले का सूचना तंत्र फेल हो चुका है?

बता दें कि दो दिन पूर्व निर्मला महिला बाल विकास एंव श्रमिक कल्याण समिति सुलतानपुर द्वारा मोतिगर पुर कस्बे में कोविड-19 की गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ाई गई थीं। श्रमिकों के रजिस्ट्रेशन करने के नाम पर हजारों की भीड़ जमा की गई थी। संस्था के कर्मचारियों तक ने मास्क नहीं लगाए थे और न ही सैनिटाइजर की कोई व्यवस्था दिखी थी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सुल्तानपुर में श्रमिकों के रजिस्ट्रेशन के दौरान लोग कोरोना महामारी से बेपरवाह दिखाई दिए। न मास्क नजर आया और न ही सोशल डिस्टेंसिंग।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला