अस्पताल में नवजात बच्ची को चूहों ने नोचा; मौत के बाद परिजनों ने किया हंगामा, डीएम ने दिए मामले की जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में निजी अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है। डिलीवरी के बाद नवजात बच्ची को अस्पताल में डीप फ्रीजर में रखा गया था। लेकिन सुबह जब बच्ची के शव को परिजनों के सुपुर्द करने के लिए निकाला गया तो उसका शव क्षत विक्षत पाया गया। उसके शरीर को जगह जगह चूहों ने नोच खाया था। डीएम ने मामले की जांच बैठा दी है।

जानकारी के अनुसार, राजेश कुमार ने अतरौली थाने में शिकायत दी है। कहा कि पत्नी सपना देवी को 22 नवंबर को कीर्ति अस्पताल में प्रसव के लिए भर्ती कराया था। देर रात 11 बजे सपना ने पुत्री को जन्म दिया। जिसे अस्पताल के डॉक्टरों ने सुरक्षित बताया।

देर रात बच्चों ने खड़े किए हाथ

रात करीब 12 बजे डॉक्टर ने बताया कि हम बच्ची को नहीं बचा सके। बच्ची के शव को परिजनों को सौंप दिया फिर उसे वापस लेकर अस्पताल में रख दिया। 23 नवंबर को बच्ची का शव परिजनों को सौंप दिया। शव क्षत विक्षत था। आरोप है कि पूछने पर डॉक्टर अभद्रता करने लगे। कहने लगे आपकी बच्ची जैसी थी वैसी ही है। फौरन अस्पताल का बिल पूरा भरो और बच्ची के शव व उसकी मां को ले जाओ। राजेश कुमार ने बताया कि अस्पताल का पूरा भुगतान करने बाद ही बच्ची का शव सौंपा गया।

सीएमओ डाक्टर बीपी सिंह ने कहा कि बच्ची के शव को चूहों ने कुतरा है या नहीं यह जांच का विषय है। शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद भी मामला स्पष्ट होगा। डीएम ने जांच के आदेश दिए हैं। 24 घंटे अंदर मामले की जांच रिपोर्ट दे दी जाएगी।

वहीं, जिलाधिकारी सी बी सिंह के अनुसार अतरौली क्षेत्र स्थित प्राइवेट कीर्ति हॉस्पिटल की लापरवाही का मामला सामने आया है। मामले की एसडीएम अतरौली व सीएमओ को 24 घंटे के अंदर जांच कर सौंपने के आदेश दिए गए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अलीगढ़ में अस्पताल की लापरवाही से एक नवजात बच्ची की मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि बच्ची के शव को चूहों ने नोच खाया जिससे उसकी मौत हो गई।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला