वाराणसी से उठी आवाज, बुंदेलखंड एक्सप्रेस ट्रेन का नाम वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई के नाम पर रखने की मांग

जागृति फाउण्डेशन और ब्रम्हा वेद विद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में महारानी लक्ष्मीबाई की 185वीं जयंती गुरूवार को भदैनी स्थित उनके जन्मस्थली पर धूमधाम से मनायी गयी। महारानी लक्ष्मीबाई के आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। ब्रम्हा वेद विद्यालय के वेदपाठी बटुकों ने गुलाब, गेंदा के फूलों की पुष्प वर्षा कर वीरांगना के चरणों में पुष्पांजलि अर्पित किया। इस अवसर पर बुंदेलखंड एक्सप्रेस ट्रेन का नाम वीरांगना एक्सप्रेस करने की मांग उठी।

वीरांगना एक्सप्रेस या लक्ष्मीबाई के नाम पर ट्रेन ग्वालियर तक चलाई जाए

जागृति फाउण्डेशन के महासचिव रामयश मिश्र ने प्रधानमंत्री मोदी से वाराणसी से चलने वाली बुंदेलखंड एक्सप्रेस ट्रेन का नाम वीरांगना एक्सप्रेस के नाम पर चलाने का मांग किया। महारानी लक्ष्मीबाई की जन्मस्थली से चलकर उनके शहीद स्थली ग्वालियर तक जाने वाली बुंदेलखंड एक्सप्रेस ट्रेन का नाम महारानी लक्ष्मीबाई या वीरांगना एक्सप्रेस किया जाए। यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

साहित्यकार डॉ जयप्रकाश मिश्र ने कहा महारानी लक्ष्मीबाई के बलिदान की वजह से हमारा देश आजादी की सांस ले रहा है। वीरांगना लक्ष्मीबाई के परम साहस के कारण अंग्रेजों को देश छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
वेदपाठी बटुकों ने मंत्रोच्चार के साथ पुष्प वर्षा किया।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला