CBI ने सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर को किया गिरफ्तार; 10 साल में 50 से अधिक बच्चों को बनाया अपनी दरिंदगी का शिकार

केंद्रीय एजेंसी सीबीआई ने उत्तर प्रदेश के सिंचाई विभाग के एक कनिष्ठ अभियंता राम भवन को पिछले 10 वर्षों में 50 से अधिक बच्चों (पांच से 16 वर्ष के बीच) के साथ यौन शोषण के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी कथित तौर पर ऑनलाइन वीडियो और तस्वीरें भी बेच रहा था। बच्चों का दुर्व्यवहार राज्य के तीन जिलों चित्रकूट, बांदा और हमीरपुर में हुआ। आरोपी को बांदा जिले से गिरफ्तार किया गया था और जल्द ही अदालत में पेश किया जाएगा।


सीबीआई टीम ने कनिष्ठ अभियंता के पास से मोबाइल फोन, लैपटॉप और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद किए हैं। आरोपी कनिष्ठ अभियंता पर आरोप है कि वो कई लोगों के साथ सीसैम सामग्री की बिक्री, प्रसारण और साझाकरण के लिए डार्कवेब का उपयोग करता था। सीबीआई ने आरोपी के आवास की तलाशी में के लगबग आठ लाख रुपये कैश, मोबाइल फोन, लैपटॉप, वेब-कैमरा और अन्य इलेक्ट्रॉनिक स्टोरेज डिवाइस जिनमें पेन ड्राइव, मेमोरी कार्ड और कई सेक्स टॉय बरामद हुए हैं। सीबीआई के मुताबिक आरोपियों ने करीब 5 से 16 साल की उम्र के बच्चों को लुभाने के लिए आरोपी इन इलेक्ट्रॉनिक सामानों और गैजेट्स का इस्तेमाल करता था। सीबीआई को आरोपी के ईमेल की जांच से पता चला है कि वह बाल यौन शोषण सामग्री साझा करने के उद्देश्य से कई विदेशी और भारतीय व्यक्तियों के साथ लगातार संपर्क में था। आरोपी ने इंटरनेट पर सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म और वेबसाइटों का उपयोग करते हुए डार्कनेट की मदद से कथित तौर पर बाल यौन उत्पीड़न सामग्री को भारी मात्रा में बनाया और साझा किया। साथ ही ऑनलाइन बाल यौन शोषण और शोषण से संबंधित मामलों के लिए सीबीआई नई दिल्ली में एक विशेष इकाई “ऑनलाइन बाल यौन शोषण और शोषण निवारण जांच (OCSAE)” बनाई गई है। ये टीम मामले की जांच करने के साथ-साथ यूनिट ऑनलाइन बाल यौन शोषण और शोषण से संबंधित विभिन्न अपराधों की जांच कर रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Uttar Pradesh Irrigation Department Junior Engineer Arrested By CBI In Banda

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला