बांदा जेल से आरोपी JE को CBI ने कस्टडी में लिया, PPE किट पहनकर होगी पूछताछ; कोर्ट ने कल 5 दिन की रिमांड दी थी

बाल यौन शोषण के आरोपी JE (जूनियर इंजीनियर) रामभवन को CBI ने पांच दिन की रिमांड पर आज बांदा जेल से अपनी कस्टडी में लिया है। इससे पहले CBI टीम ने CMO (चीफ मेडिकल अफसर) से मुलाकात की और कोरोना से बचाव के लिए PPE किट हासिल किया। दरअसल, आरोपी कोरोना पॉजिटिव है। उससे CBI PPE किट पहनकर पूछताछ करेगी। बता दें कि बुधवार को स्पेशल जज (पॉक्सो एक्ट) ADJ-5 मोहम्मद रिजवान ने CBI की अर्जी स्वीकार करते हुए 26 नवंबर की सुबह 10:30 बजे से 30 नवंबर की शाम चार बजे तक के लिए रिमांड मंजूर की है।

आरोपी जूनियर इंजीनियर सिंचाई विभाग में कार्यरत है। 16 नवंबर को CBI ने चित्रकूट स्थित उसके आवास से उसे गिरफ्तार किया था। उस पर 10 साल में 50 से अधिक बच्चों के साथ यौन शोषण करने का आरोप है। CBI आरोपी के विदेशी नेटवर्क को खंगालना चाहती है। 18 नवंबर को CBI ने बांदा कोर्ट में 5 दिन की रिमांड अर्जी दाखिल की थी।

इन शर्तों का CBI को पालन करना होगा
दरअसल, स्पेशल जज ने CBI की रिमांड अर्जी सशर्त मंजूर की थी। कहा था कि राज्य सरकार की गाइडलाइंस के मुताबिक कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति को होम आइसोलेशन या क्वारैंटाइन में रखना होगा। और क्या-क्या शर्तें लगाई थी-

  • PPE किट पहनकर पूछताछ करना होगा।
  • कस्टडी में लेने से पहले व वापस भेजने से पहले आरोपी के शरीर का मेडिकल होगा।
  • अमानवीय व्यवहार या प्रताड़ना या थर्ड डिग्री का प्रयोग नहीं होगा।
  • CBI को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के दिशा निर्देशों का पालन करना होगा।
  • आरोपी को दवा व अन्य चिकित्सकीय उपचार समय-समय पर दिया जाएगा।
  • दवाएं और PPE किट और आइसोलेशन व क्वारैंटाइन दिशा निर्देशों के पालन की निगरानी CMO बांदा का होगा।

सबसे अधिक चित्रकूट के बच्चों को बनाया अपना शिकार

सूत्रों के अनुसार, आरोपी इंजीनियर जिन 50 से अधिक बच्चों को अपनी दरिंदगी का शिकार बनाया है, उनमें 30 बच्चे चित्रकूट जिले से और 25 बच्चे बांदा जिले से हैं। आरोपी ज्यादातर रिश्तेदार और परिवार के बच्चों का यौन शोषण करता था। JE की शादी 2007 में हुई थी, अभी तक कोई बच्चा नहीं हुआ है। वह 2013 में अपने भाई के लड़के को अपने साथ लेकर आया था और SDM कॉलोनी पर किराए के मकान में रहता था।

इलेक्ट्रानिक गैजेट्स का लालच देता था

CBI की पूछताछ में आरोपी रामभवन ने बताया कि वह 5 से 16 साल के बच्चों को शिकार बनाता था। उन्हें जाल में फंसाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स का लालच देता था। आरोपी के ईमेल की जांच से पता चला है कि आरोपी अश्लील फोटो और वीडियो शेयर करने के लिए देश-विदेश के कई गिरोह के संपर्क में था। आरोपी सोशल मीडिया पर भी यह सामाग्री शेयर करता था। पीड़ित परिवारों को तस्वीरें दिखाकर ब्लैकमेल कर पैसों की मांग कर रहा था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो बांदा जेल की है। CBI ने आरोपी JE को अपनी सुपुर्दगी में लिया है। वह PPE किट पहनकर बाहर निकला। उसे एंबुलेंस से CBI अपने साथ ले गई।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला