हिंदुस्तान लीवर के गोदाम में कारोबारी की पत्नी और दो कर्मियों को बंधक बनाकर 11 लाख की लूट; ग्राहक बन पहुंचे थे बदमाश

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में लूट की वारदात सामने आई है। यहां हिंदुस्तान लीवर लिमिटेड के कारोबारी प्रवीण बंसल के गोदाम में दो बदमाशों ने हथियार के बल पर 11 लाख रुपए की लूट को अंजाम दिया। बदमाशों ने प्रवीण की पत्नी और दो कर्मचारियों को बंधक बना लिया था। फरार होते समय बदमाशों ने तीनों को एक कमरे में बंद कर दिया था। सूचना पर प्रवीण ने ताला तोड़कर पत्नी और कर्मियों को बाहर निकाला। SSP बबलू कुमार ने अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचकर पड़ताल की है।

पानी-सिगरेट की डिमांड की फिर तीनों को एक कमरे में बंद किया

यह पूरा मामला थाना न्यू आगरा क्षेत्र के लायर्स कॉलोनी का है। यहां रहने वाले प्रवीण कुमार हिंदुस्तान लीवर लिमिटेड के डिस्ट्रीब्यूटर हैं। उनकी मदन गोपाल जगन्नाथ प्रसाद के नाम से दुकान है। उनकी पत्नी शालिनी बसंल भी उनके साथ कामकाज संभालती हैं। शनिवार शाम को कार्यालय में शालिनी, कर्मचारी ललित रावत, चौकीदार करन सिंह मौजूद थे। चौकीदार करन ने बताया कि शाम करीब आठ बजे दो युवक पैदल-पैदल आए। अंदर पहुंचे और एक युवक ने बताया कि उसका नाम रोहित गर्ग हे। वे लखनऊ से आए हैं। प्रवीण बंसल से मिलना है। पानी मांगा और सिगरेट की भी डिमांड की। ललित मैडम (शालिनी) के पास था। मैं गेट पर था। तभी मौका पाकर उन दोनों ने तीनों को एक कमरे में बंद कर दिया। कार्यालय में एक डिब्बे में दिन भर का कलेक्शन करीब 11 लाख रुपए थे, जिसे बदमाश लूट ले गए। कुछ देर बाद प्रवीण बंसल गोदाम पहुंचे और उन्होंने ताला तोड़कर लोगों को बाहर निकाला। इसके बाद पुलिस को सूचना दी।

जल्द गिरफ्तारी का दावा

सूचना मिलते ही SSP बबलू कुमार, SP सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंच गए। SSP बबलू कुमार ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही बदमाशों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो आगरा की है। वारदात के पहुंचे पुलिस के अधिकारियों ने गहनता से पड़ताल की है।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला