28 महीने से नहीं मिला था वेतन, लाल इमली मिल के सेफ्टी अफसर की हार्ट अटैक से मौत; प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश के कानपुर में लाल इमली कपड़ा मिल के सेफ्टी अफसर अनूप सिंह (52 साल) की मौत से गुस्साए परिजनों व कर्मियों ने शुक्रवार को मिल चौराहे पर शव रखकर प्रदर्शन किया। अन्य कर्मियों की तरह अनूप को भी 28 माह से वेतन नहीं मिला था। परिजनों का आरोप है कि वेतन न मिलने व दो दिन पहले उनका तबादला किए जाने से वे काफी तनाव में थे। इसी बीच उनकी तबीयत बिगड़ी और मौत हो गई। मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मचारियों ने समझा बुझाकर कर्मियों को शांत किया। करीब ढाई घंटे बाद यातायात बहाल हुआ है।

काम पर निकलने वाले थे मगर बिगड़ गई थी सेहत

काकादेव में रहने वाले अनूप सिंह यादव (52) लाल इमली मिल में सेफ्टी अफसर थे। परिवार में उनके पिता अमर सिंह, पत्नी नीलम, बेटा अखंड प्रताप व बेटी अपूर्व सिंह हैं। सेफ्टी अफसर का दो दिन पूर्व प्रबंधन द्वारा मिल में ही अन्य यूनिट (डिपार्टमेंट) में तबादला करते हुए अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई थी। जबकि मिल में 28 माह से किसी को वेतन नहीं दिया जा रहा था। वेतन न मिलने व लगातार अतिरिक्त जिम्मेदारी देकर उत्पीड़न भरा रवैया प्रबंधन अपना रहा था। जबकि वेतन न मिलने से लगातार अनूप अन्य कर्मचारियों की तरह बच्चों की शिक्षा सहित अन्य खर्चों के बोझ से दबते चले जा रहे थे। इसी के चलते वह सदमे में आ गए और रोजाना की तरह काम पर जाने के दौरान गुरुवार को उनकी तबीयत बिगड़ गई। जिसके बाद परिजन उन्हें अस्पताल ले गए और उनका निधन हो गया।

इससे नाराज मिल यूनियन के कर्मियों ने शुक्रवार को लाल इमली मिल चौराहे पर शव रखकर जाम लगा दिया। मिल प्रबंधन पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए नारेबाजी शुरु कर दी। प्रदर्शन के चलते चुन्नीगंज से परेड चौराहा की मुख्य सड़क पर जाम लग गया। कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारी राजू ठाकुर बताया कि प्रबंधन के अड़ियल रवैये के चलते 28 माह से मिल में कार्यरत कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल सका है। इससे कर्मचारियों के परिवार व बच्चों की शिक्षा बाधित हो गई है।

15 दिन में यह तीसरी मौत

वहीं, अजय सिंह ने कहा कि, उत्पीड़न के चलते ही सेफ्टी अफसर अनूप सिंह की तबीयत बिगड़ी और उनकी मौत हुई है। इससे पूर्व में प्रबंधन की कारगुजारियों के चलते ही 15 दिनों में दो कर्मचारियों की भी जान जा चुकी है।

मिल प्रबंधन से की गई बात

प्रदर्शन की सूचना पर पहुंचे कर्नलगंज थाना प्रभारी देवेंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि कर्मियों को समझाया बुझाया गया है। मिल प्रबंधन से भी बात की गई है। उन्होंने जल्द समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो कानपुर की है। यहां अपने एक साथी की मौत पर आक्रोश जताते लाल इमली मिल के कर्मचारी।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला