चेक की क्लोनिंग कर मंदिर ट्रस्ट के खाते से पैसा निकालने वाले 4 लोग गिरफ्तार, मुख्य आरोपी फरार

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाते से चेक की क्लोनिंग करके धोखाधड़ी से 6 लाख रुपए हड़पने वाले मुम्बई के चार आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक, पहली बार अभियुक्तों ने 6 लाख का चेक लगाया, जिससे बैंक ने पास कर दिया। दूसरी बार 9 लाख का चेक लगाया तब ट्रस्ट के पास मैसेज गया। क्योंकि, ट्रस्ट ने खाते में 6 लाख की लिमिट लगा रखी थी।

डीआईजी दीपक कुमार ने फ्राड करके मंदिर ट्रस्ट के खाते से धन निकालने के मामले का खुलासा करते हुए बताया कि इसमें बैंक के किसी कर्मचारी के भी मिले होने की सम्भावना है। जिसने चेक की क्लोनिंग कराने में मदद की। उन्होंने बताया कि प्रकरण का मास्टरमाइंड यूपी के बनारस का रहने वाला युवक है। इसकी तलाश में पुलिस टीम लगी है।

बैंक कर्मचारी की मिली भगत से की गई क्लोनिंग

डीआईजी दीपक ने बताया कि क्लोनिंग करने के दो तरीके होते है। एक तो किसी चेक को देखकर क्लोनिंग और दूसरा क्लीयरिंग हाउस में आये चेक की क्लोनिंग कर लेना। यह कार्य बैंक कर्मचारी के मिलीभगत से ही संभव है। इस मामले में चालाकी के साथ चेक की अंतिम डिजिट्स का प्रयोग किया गया। जांच में पाया गया है कि चेक बुक समाप्त होने के बाद अगली चेक बुक का इस्तेमाल किया गया। लेकिन पिछली चेकबुक की अंतिम चेकों को नहीं काटा गया। जिसका आरोपितों ने प्रयोग किया।

मामले का 9 सितम्बर को खुलासा हुआ था जिसमें कोतवाली अयोध्या में मुकदमा पंजीकृत किया गया था। मामले में शामिल मुम्बई के रहने वाले प्रशांत महावल शेट्टी, विमल लल्ला, शंकर सीताराम, संजय तेजराज को गिरफ्तार किया गया है। सभी से पूछताछ हो रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यूपी के अयोध्या की पुलिस ने चेक की क्लोनिंग करने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए चार लोगों को पकड़ा है। हालांकि इस गिरोह के सरगना की तलाश अभी भी पुलिस कर रही है।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला