नौकरी के बहाने तस्करी करके दूसरे राज्यों से लाई गईं 4 युवतियों को कराया मुक्त, होटल मैनेजर गिरफ्तार

राजधानी लखनऊ में रविवार देर रात विभूति खंड के एक होटल रुद्रा इन में सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ। पुलिस ने होटल मैनेजर को गिरफ्तार किया है। मौके पर मिलीं अन्य प्रांतों की चार युवतियों को मुक्त कराया गया है। होटल मैनेजर यह नहीं बता पाया कि लड़कियां होटल में कैसे पहुंचीं? लड़कियां बिना किसी एंट्री दर्ज कराए होटल में ठहरी थीं। पुलिस का कहना है कि बीते कुछ दिन पहले इस बाबत शिकायत मिली है। यह धंधा कब से संचालित हो रहा था? इसके बारे में भी जानकारी नहीं हो पाई है।

एजेंट करते थे ग्राहकों की बुकिंग

DCP ईस्ट संजीव सुमन ने बताया कि विभूति खंड में पकड़े गए सेक्स रैकेट में चार युवतियां मौके से मिली थीं, जो कि दूसरे राज्यों की रहने वाली हैं। उन्होंने बताया कि एजेंट के जरिए ग्राहकों की बुकिंग होती थी।एजेंट के साथ चार व्यक्तियों के नाम प्रकाश में आए हैं, जिनकी तलाश में छापेमारी की जा रही है। लड़कियों को दूसरे राज्यों से नौकरी और अन्य काम कराने का प्रलोभन देकर राजधानी में लाया जाता था।

होटल मैनेजर विवेक पांडेय को गिरफ्तार किया गया है। इसकी निशानदेही पर और अन्य की तलाश की जा रही है। क्षेत्र में चल रहे अन्य होटल की भी जांच की जाएगी। अन्य होटलों में भी सेक्स रैकेट की जानकारी मिली है, जल्द ही उनको पकड़ा जाएगा।

वरिष्ठ अफसर की शिकायत पर पुलिस कमिश्नर ने की कार्रवाई
उत्तर प्रदेश शासन में तैनात एक वरिष्ठ अफसर की शिकायत के बाद पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने सेक्स रैकेट के खुलासे के संबंध में एक विशेष टीम लगाई की थी। पुलिस कमिश्नर को सेक्स रैकेट के बारे में कुछ दिन पहले किसी ने कॉल कर बताया था। कॉल करने वाले ने अन्य राज्यों की चार युवतियों को बंधक बनाकर गलत काम कराने की सूचना दी थी। इसके बाद कमिश्नर ने DCP पूर्वी को निर्देश दिया कि इसकी जांच एसीपी विभूति खंड को सौंपें। ACP ने इस बारे में और जानकारी हासिल की है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो लखनऊ की है। पुलिस की गिरफ्त में होटल का मैनजर।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला