6 महीने पहले हुआ था दुष्कर्म, जांच में पुलिस ने नहीं दिखाई तेजी; आरोपी ने विरोध करने पर जान से मारने की धमकी दी

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में दरिंदगी की शिकार एक पीड़ित महिला इंसाफ के लिए पुलिस अफसरों के दफ्तर का चक्कर काट रही है, लेकिन केस दर्ज होने के 6 महीने बाद भी पुलिस ने अपनी जांच में तेजी नही दिखाई है। इस दौरान रेप पीड़िता ने एक बच्चे को जन्म भी दे दिया, लेकिन पुलिस अभी तक बच्चे का डीएनए टेस्ट तक नही करा पाई। पीड़ित महिला ने एसपी को शिकायती पत्र देकर इंसाफ की गुहार लगाई है।

जानकारी के अनुसार, फतेहपुर जिले के जाफरगंज थाना इलाके में 6 महीने पहले महिला से दुष्कर्म का एक सनसनीखेज मामला सामने आया था। इस मामले में पीड़िता की नाबालिग बहन ने थाने में तहरीर दी थी कि उसकी 25 वर्षीय बड़ी बहन के साथ गांव के रामराज व एक अज्ञात व्यक्ति ने दुष्कर्म किया है, जिससे उसकी बहन के पेट में चार से पांच माह का गर्भ ठहर गया। जब गर्भ ठहरने की बात आरोपियों को पता चली तो वह किसी से बताने पर जान से मारने की धमकी दिए।

जून में ही पुलिस ने दर्ज किया था बयान

पीड़िता के नाबालिग बहन के शिकायत पर पुलिस ने 19 जून 2020 को नामजद आरोपी रामराज व एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 506 के तहत केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराए जाने के बाद 1 जुलाई 2020 को कोर्ट में 164 का बयान कराया। 164 के बयान में पीड़िता ने बताया था कि गांव के रामराज, विनोद व संतोष उसके घर आते थे, और उसके साथ जोर जबरदस्ती करते थे। जब वह विरोध करती थी तो उसे जान से मारने की धमकी देते थे।

दुष्कर्म होने के 6 महीने तक दर्ज नहीं हुआ केस

पीड़िता की बहन ने बताया कि मेरी बड़ी बहन के साथ बलात्कार किया गया था। पांच-छह महीने हो गए एफआईआर दर्ज हुए, लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है। मैं अपनी बहन को लेकर कई बार थाना-पुलिस और एसपी कार्यालय भी गई, लेकिन मेरी कोई सुनवाई नही हुई है।

बताया कि जब से मेरी बहन ने बच्चे को जन्म दिया है, तक से गांव के लोग भी हम सबको बहुत प्रताड़ित करते है। जब हम लोग हैंडपंप से पानी भरने जाते है तो गांव के लोग छुआछूत और भेदभाव कर हम लोगो को टॉर्चर करते है। जिससे मैं अपनी बड़ी बहन और दो छोटे भाइयों के साथ गांव के बाहर अपनी कालोनी में रहते है।

घटना के बावत एडिशनल एसपी राजेश कुमार ने बताया कि थाना जाफरगंज इलाके में एक महिला से रेप का मामला संज्ञान में आया था। जिस सम्बन्ध में थाने में पहले से ही मुकदमा दर्ज है, मामले में बच्चे का डीएनए टेस्ट की कार्यवाही अभी शेष है, जिसे पूर्ण कर आगे की कार्यवाही की जाएगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यूपी के फतेहपुर जिले में कथित दुष्कर्म की शिकार एक महिला इंसाफ के लिए पुलिस अफसरों के दफ्तर का चक्कर काट रही है, लेकिन केस दर्ज होने के 6 महीने बाद भी पुलिस ने अपनी जांच में तेजी नही दिखाई है

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला