सरगना समेत 8 गिरफ्तार, दिल्ली- NCR से लग्जरी वाहन चोरी कर गुजरात व कश्मीर में बेचते थे

उत्तर प्रदेश में दिल्ली एनसीआर से लग्जरी वाहन चोरी कर उन्हें गुजरात और कश्मीर में बेचने वाले एक गिरोह को थाना सेक्टर 58 पुलिस ने पकड़ा है। पुलिस ने गिरोह के सरगना समेत 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपी मांग पर लग्जरी वाहन चोरी कर उन्हें गुजरात और कश्मीर में बेचते थे। पूछताछ में आरोपियों ने 100 अधिक गाड़ियां चोरी कर बेचे जाने की बात कुबूल की है। यह गिरोह पिछले करीब डेढ़ साल से दिल्ली एनसीआर में सक्रिय था। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 10 लग्जरी वाहन, नकदी व अन्य सामान बरामद किया है। पुलिस ने सभी आरोपियों कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया।

अपर पुलिस आयुक्त (लॉ एंड ऑर्डर) लव कुमार ने बताया कि थाना सेक्टर 58 पुलिस ने सोमवार देर रात सेक्टर-61 शॉप्रिक्स मॉल के सामने से आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान मोहम्मद आसिफ निवासी हरथला मुरादाबाद, मोहम्मद अशरफ निवासी पठान चौक श्रीनगर जम्मू कश्मीर, रवि सोलंकी निवासी राजकोट गुजरात, कुलदीप कुमार वर्मा निवासी मुगलपुरा मुरादाबाद, मोहम्मद हसन निवासी गाजीपुर दिल्ली, मनोज पाल उर्फ ठाकुर निवासी नंगला अहीर थाना व जिला हाथरस, राजेश शर्मा उर्फ पंडित निवासी दहतूरा आगरा व मोहम्मद आमिर निवासी हरथला मुरादाबाद के रूप में हुई।

आरोपित कार का शीशा व लॉक तोडकर स्कैनर टैब टूल की मदद से गाड़ियों की नई चाबी बनाते थे और चंद मिनटों में गाड़ी चोरी कर लेते थे। उन्होंने बताया कि आरोपी चोरी के वाहनों को गुजरात और कश्मीर में बेच देते थे। हाल ही में आरोपियों ने चोरी की 12 इनोवा और फॉर्चूनर कारें कश्मीर में बेची हैं। आरोपियों से बरामद कारों में से तीन कारें नोएडा के दो अलग-अलग थाना क्षेत्र से चोरी की गई थी। उन्होंने बताया कि पुलिस गिरोह में शामिल दूसरे लोगों को भी पकड.ने का प्रयास कर रही है।

लग्जरी कार के लॉक खोलने में माहिर है सरगना
गिरफ्तार किया गया गैंग सरगना कुलदीप कुमार वर्मा लग्जरी कार के लॉक खोलने में माहिर है। जबकि मोहम्मद हसन गाडी का शीशा तोड.ने में माहिर है। कुलदीप स्कैनर टैब के माध्यम से गाडी की चाभी को स्कैन कर दूसरी चाबी बनाकर गाडी स्टार्ट करता है। कुलदीप अपने साथी मोहम्मद आसिफ, मोहम्मद आमिर व राजेश शर्मा, मोहम्मद हसन, मनोज पाल मिलकरकार चोरी कर फरार हो जितना है। कुलदीप कुमार वर्मा फॉच्र्यूनर, इनोवा, क्रेटा चुराने में माहिर है। जबकि मोहम्मद हसन स्विफ्ट, डस्टर, होंडा सिटी, वैगनार, सेंट्रो कार चोरी करने में माहिर है।

गुजरात व कश्मीर में तैयार होती थी फर्जी आरसी
सरगना कुलदीप वर्मा, मोहम्मद आसिफ व आमिर के माध्यम से काशीपुर उत्तराखंड में रियाजुद्दीन उर्फ रियाज की दुकान पर चोरी की गई कारों के इंजन व चेचिस नंबर बदलवाता था। गुजरात और कश्मीर के डीलर इन कारों पर नए नंबर डलवाने के लिए फर्जी आरसी तैयार करते थे।

आरसी के अनुसार ही इन कारों पर नए नंबर डाले जाते थे। गुजरात के डीलर मोहम्मद इलियास व जम्मू कश्मीर के मोहम्मद असरफ भट व उसके बेटे इम्तियाज भट इन वाहनों को खरीदते थे। इसके बाद महंगे दामों में वाहनों को बेच देते थे।

आरोपियों के पास से बरामद सामान
आरोपियों के पास से चार फॉच्र्युनर कार, एक क्रेटा, तीन स्विफ्ट, एक डस्टर एक होंडा सिटी, दो लाख कैश, चार स्कैनर टैब टूल, 74 कार की चाभी, तीन फर्जी आरसी, चार मीडिया स्टीकर व दो प्रेस कार्ड, भारत सरकार के असिस्टेंट कमिश्नर का कार्ड दो ड्रिल मशीन, 5 स्कैनर केबल, एलएन फ्लाईट टिकट डिवाइस चार्जरव रॉड आदि कार के लॉक तोड.ने व चाभी बनाने के उपकरण बरामद हुए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यूपी की नोएडा पुलिस ने वाहन चोर गिरोह का पर्दाफास किया है जिसने अभी तक 100 से अधिक गाड़ियां चोरी कर बेचे जाने की बात कुबूल की है।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला