मुख्तार अंसारी के करीबी मेराज अहमद पर धाराएं कम करने पर दारोगा लाइन हाजिर, विवेचना दूसरे को सौंपी गई

वाराणसी एसएसपी ने कैंट थाने के दारोगा वसीमुल्लाह को लाइन हाजिर कर दिया है। आरोप है कि उन्होंने मुख्तार अंसारी के अंतरराज्यीय गिरोह के सहयोगी मेराज अहमद उर्फ भाई मेराज के खिलाफ दर्ज मुकदमों की धाराएं कम करने का प्रयास किया है। इसके साथ ही मेराज के खिलाफ कैंट थाने में दर्ज मुकदमों की विवेचना दूसरे दारोगा को सौंप दी गई है।

जानकारी के अनुसार, पहड़िया क्षेत्र की अशोक विहार कॉलोनी फेज-एक निवासी मेराज के खिलाफ बीते महीने में कैंट थाने में चार और उससे पहले जैतपुरा थाने में दो मुकदमे दर्ज किए गए थे। मेराज पर फर्जी तरीके से शस्त्र लाइसेंस बनवाने और फिर उसी तरह से उसका नवीनीकरण कराने का आरोप है।

मेराज के मामले की जांच वसीमुल्लाह को सौंपी गई थी
मेराज द्वारा शस्त्र लाइसेंस लेने में गलत पता दिखाने और चालक व रिश्तेदार के नाम लिए गए लाइसेंसी असलहे अपने पास रखने के प्रकरण की जांच दारोगा वसीमुल्लाह को सौंपी गई थी। एसएसपी अमित पाठक की जानकारी में आया कि जांच में दारोगा ने मेराज के खिलाफ दर्ज मुकदमे की धाराएं कम करने का प्रयास किया है तो उन्होंने उसे लाइन हाजिर कर दिया। साथ ही दरोगा के खिलाफ जांच का आदेश दिया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
वाराणसी के एसएसपी ने मऊ से विधायक मुख्तार अंसारी के सहयोगी के खिलाफ कम धाराएं लगाने के मामले में दारोगा को लाइनहाजिर कर जांच दूसरे को सौंप दी है। -फाइल फोटो।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला