बांके बिहारी मंदिर के पुजारी और उसके बेटे ने दहेज में कार न मिलने पर बहू को पीटकर घर से निकाला

दहेज में कार न मिलने से बौखलाए बांके बिहारी मंदिर वृंदावन के मुख्य पुजारी और उनके पुत्र ने परिजन के साथ मिलकर अपनी बहू को इतना मारापीटा की वो अपनी सुधबुध खो बैठी। बहु को पीटकर घर से निकाल दिया। अब पीड़ित लड़की झांसी के समथर में अपने मायके में रह रही है। इस मामले की शिकायत करने पर समथर पुलिस ने तत्परता से आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

समथर थाना क्षेत्र के मोहल्ला नईबस्ती निवासी यशोदानंदन सिरौठिया ने अपनी पुत्री इला का विवाह 18 फरवरी 2014 को वृंदावन स्थित बांकेबिहारी मंदिर के मुख्य पुजारी सुरेश बिहारी गोस्वामी के पुत्र नितिन साबरिया गोस्वामी के साथ हिन्दू रीति-रिवाज के अनुसार वृंदावन के भोगला आश्रम से सम्पन्न किया था। अपनी सामर्थ्य के अनुसार उन्होंने ससुरालीजनों को नकद राशि एवं विभिन्न सामान भेंट किया था, लेकिन शादी के कुछ महीने बाद ही इला के ससुराल वाले उससे दहेज में बड़ी कार की मांग करने लगे।

कार देने में जताई असमर्थता तो लड़की को पीटा
जब इला और उसके पिता ने कार देने में असमर्थता जताई तो उसके पति नितिन साबरिया ने उसे बहुत पीटा, उसमे इला की सास लक्ष्मी और ससुर सुरेश ने भी सहयोग किया और इला को कमरे में बंदकर गंदी गंदी गालियां दी। बाद में इला की ननद जया मोहनी एवं बुआ सास उषा ने इला को करंट लगाने का प्रयास किया। इन दहेज दानवों का जब मन नही भरा तो बदहवास हालत में अपनी बहू इला को घर से अकेला निकाल दिया और कहा कि जब तक दहेज में कार नही ले आती तब तक इस घर मे कदम नही रखना और यदि आई तो जलाकर मार दिया जाएगा।

फिलहाल, इला अपने मायके समथर में अपने पिता के घर आकर रह रही है। वो इतनी शारीरिक और मानसिक प्रताड़ित हो चुकी है कि अपनी सुधबुध खो बैठी है। इला ने मजबूरन जब पुलिस को आपबीती सुनाई तो समथर पुलिस ने इन सफेदपोश पुजारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बांकेबिहारी मंदिर के मुख्य पुजारी सुरेश बिहारी गोस्वामी का पुत्र नितिन साबरिया गोस्वामी। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला