सस्पेंड सिपाही ने सेक्स रैकेट चलाने वाली महिला के साथ मिलकर आढ़ती को अगवा किया था

उत्तर प्रदेश के कानपुर में पुलिस ने अपहृत युवक को तीन घंटे के भीतर अपहरणकर्ताओं के चंगुल से रिहा करवा लिया है। पुलिस ने तीन अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार किया। जिसमें एक पुलिस विभाग का निलंबित सिपाही भी है। युवक को छोड़ने के लिए 3 लाख की फिरौती मांगी गई थी। दरअसल, युवक एक सेक्स वर्कर से मिलने गया था। तभी आरोपियों ने बंधक बना लिया और बदनाम करने का डर दिखाया। जिस पर युवक ने खुद के अपहरण की सूचना परिवार वालों को दी थी।

अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूटा कारोबारी।

फिरौती लेकर पहुंचे तो नहीं मिले अपहरणकर्ता

दरअसल, थाना किदवई नगर के चकरपुर मंडी के आढ़ती मेराज अंसारी रोज की तरह शनिवार की शाम अपनी स्कूटी से घर से जिम जाने के लिए निकले थे। लेकिन कुछ देर के बाद मेराज अंसारी का फोन पड़ोस में रहने वाले आमिर के फोन पर आया। जिस पर मेराज अंसारी ने अपने पड़ोसी को अपहरण होने की जानकारी देते हुए कहा कि मेरे घर पर सूचना पहुंचा दो कि उसका अपहरण हो गया है और 3 लाख का इंतजाम कर लें। इतना कहते ही उसका फोन कट गया। यह सुन पड़ोसी आमिर घबरा गया और सूचना मेराज अंसारी के परिजनों को दी।

मेराज अंसारी के परिजनों ने आनन-फानन में 3 लाख का इंतजाम करते हुए उसी नंबर पर दोबारा फोन किया तो अपहरणकर्ताओं ने फिरौती की रकम देने के लिए पहले शास्त्री चौक फिर विजय नगर चौराहे पर बुलाया। लेकिन जब परिजन चौराहे पर पहुंचे तो आरोपियों की तरफ से आया फोन बंद हो गया। इससे घबराए परिजनों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी और पूरा घटनाक्रम बताया। जिसके बाद पुलिस ने FIR दर्ज करते हुए अपहरणकर्ताओं की तलाश शुरू कर दी। एसपी साउथ और सर्विलांस टीम‚ स्वाट टीम, किदवई नगर पुलिस ने तीन घंटे के अंदर ही घटना का खुलासा कर दिया और निलंबित सिपाही सहित 3 लोगों को दादा नगर स्थित एक कॉलोनी से गिरफ्तार कर लिया।

युवती से होती थी आढ़ती की बात

पुलिस के मुताबिक माही नाम की लड़की से आढ़ती काफी समय से संपर्क में थे। माही अक्सर सेक्स वर्कर के नंबर आढ़ती को मुहैया कराती थी। पूछताछ में सामने आया कि माही ने कुछ दिन पहले ही एक अन्य युवती का नंबर दिया था और उस युवती ने आढ़ती को मिलने के लिए शनिवार शाम दादानगर कालोनी मिलने गया था। इसी बीच मास्टरमाइंड सिपाही मुकेश, इलियास और युवती नेहा उन्हें एक साथ कमरे में पकड़ लिया और बदनाम करने के साथ-साथ सोशल मीडिया पर वीडियो डालने की बात कहते हुए ब्लैकमेल करके रुपए मांगने लगा।

पुलिस ने सिपाही के साथ एक महिला को भी पकड़ा है।

बदनामी के डर से खुद रची साजिश

आढ़ती मेराज को चकेरी थाने से सस्पेंड सिपाही ने अपने साथियों के साथ मिलकर सेक्स वर्कर के जाल में फंसवाया। इसके बाद उसे बदनाम करने का डर दिखाकर ब्लैकमेल किया। सस्पेंड सिपाही को 3 लाख रुपए देने के लिए आढ़ती ने खुद के अपहरण की बात पड़ोसी को बताते हुए 3 लाख घर से मंगवाए थे।

क्या बोले एसपी साउथ?

SP साउथ दीपक भूकर ने बताया कि मेराज का संपर्क माही नाम की महिला से था। उसने उन्हें सेक्स वर्कर का नंबर दिया। शनिवार को सेक्स वर्कर ने मेराज को मिलने के लिए दादानगर स्थित एक कमरे में बुलाया था। इस बीच सस्पेंड सिपाही मुकेश श्रीवास्तव ने अपने साथी इलियास और नेहा पांडेय के साथ साजिश के तहत मेराज को बदनामी से बचाने के लिए तीन लाख रुपयों की मांग कर दी। मेराज ने उन्हें रुपए देने के लिए खुद के अपहरण की साजिश रच दी। पुलिस ने मुकेश‚ नेहा पांडेय और इलियास को गिरफ्तार कर लिया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो कानपुर की है। गिरफ्तारी होने के बाद मुंह छिपाता पुलिस विभाग का सस्पेंडेड सिपाही।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला