मशहूर रंगकर्मी अनिल रस्तोगी ने प्रयाग के साधू संतों पर खड़े किए सवाल, कहा- प्रयाग के हर दूसरे कैम्प में राम रहीम जैसे लोग, रेप और मर्डर करते हैं

आश्रम वेब सीरीज से चर्चा में आए वरिष्ठ रंगकर्मी अनिल रस्तोगी अब देश के सबसे बड़े गैंगस्टर रहे विकास दुबे के जीवन पर बन रही वेब सीरीज कानपुर गैंगस्टर में विकास दुबे के राजनीतिक गुरु के किरदार में नजर आने लगे हैं। सीरीज के मुहूर्त शॉट के समय अनिल रस्तोगी ने कहा कि उन्हें बाबाओं के बारे में जानकारी नहीं है। लेकिन इलाहाबाद में जो बाबाओं के कैम्प लगते हैं उनमें से हर दूसरे तीसरे कैम्प ऐसे ही होते हैं।

आश्रम वेब सीरीज में काम करने के बाद जब उन्होंने सीरीज़ देखी थी तो उनके रौंगटे यह सोचकर खड़े हो गए थे की बाबा ऐसे बुरे काम कर रहे हैं। जनता कब तक इनके लिए अंध विश्वास में पड़ी रहेगी। बाबा राम रहीम की गिरफ्तारी पर कितना हंगामा हुआ था। अब जनता को ऐसे बाबाओं से किनारा कर लेना चाहिए। यह बाबा मर्डर,रेप और ड्रग्स जैसे काम करते हैं।

हर गैंगस्टर पैदायशी गैंगस्टर नहीं होता

आगामी वेब सीरीज कानपुर गैंगस्टर की बात करते हुए उन्होंने बताया कि हर गैंगस्टर पैदायशी गैंगस्टर नहीं होता है।उसकी कोई कहानी होती है।आखिर ऐसी परिस्थिति क्यों आई कि वो गैंगस्टर बना। थाने में मंत्री की हत्या करने के बाद भी वो पकड़ा नहीं गया यानी उसकी पुलिस और राजनेताओं में क्या पकड़ होगी।

आज जनता को ऐसे नेताओं से बचना चाहिए। चुनाव में प्रत्याशी पर कितने अपराध दर्ज हैं यह जानकारी चुनाव आयोग लेता है पर आम जनता को यह सब पता नहीं चलता है। एक गंदी मछली भी तालाब को गंदा कर देती है।ऐसे नेताओं का बहिष्कार करने की जरूरत है।

आश्रम के तीसरे सीजन की बात करते हुए उन्होंने कहा कि मुझे इसकी जानकारी नहीं है पर जहां तक मेरा ख्याल है कि नई सीरीज में बाबा ने मुख्यमंत्री दूसरे को बनवा दिया है और अब वो फ्री हैंड हो गया है।अब इस सीरीज में वो लड़की कैसे बदला लेती है और पूर्व मुख्यमंत्री बनकर में उसकी कैसे मदद करता हूँ यही दिखाया जाएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
वेब सीरीज कानपुर गैंगस्टर में विकास दुबे के राजनीतिक गुरु के किरदार में नजर आएंगे अनिल रस्तोगी।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला