दबंग पूर्व प्रधान ने पुलिस के सामने VDO की गोली मारकर हत्या की; 4 घायल, ग्रामीणों ने किया हंगामा

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है। यहां रविवार सुबह नाली के विवाद में दबंग पूर्व प्रधान ने ग्राम पंचायत अधिकारी की पुलिस के सामने गोली मारकर हत्या कर दी। इस दौरान गोली लगने से चार लोग घायल भी हुए। जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। मामले को लेकर क्षेत्र में तनाव है। पुलिस फोर्स तैनात की गई। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव का दावा है कि स्थिति काबू में है। फरार आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द हो जाएगी।

दोनों तरफ से हुई फायरिंग

यह वारदात तितावी थाना क्षेत्र के दुधाहेड़ी गांव की है। गांव निवासी अर्जुन (22 साल) सदर ब्लॉक में ग्राम पंचायत अधिकारी के पद पर तैनात है। रविवार को अवकाश होने के नाते वह गांव पर ही था। सुबह करीब 11 बजे अर्जुन अपने परिवार के साथ घर में बैठा था। आरोप है कि तभी नाली के विवाद को लेकर पूर्व ग्राम प्रधान विनोद अपने साथियों के साथ असलहों से लैस होकर मौके पर पहुंचे। उसने हमला कर दिया। इसकी सूचना पुलिस को दी गई।

पुलिस की मौजूदगी में दोनों पक्षों ने फायरिंग की। इस दौरान गोली लगने से अर्जुन की मौत हो गई। जबकि उसका भाई इंदु देशवाल समेत चार घायल हुए। जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया है। घायलों में एक युवक प्रधान पक्ष की तरफ से है। वारदात के बाद प्रधान अपने साथियों के साथ फरार हो गया। बताया जा रहा है कि पूर्व प्रधान अपराधी किस्म का है। वह पूर्व में बलात्कार के केस में जेल भी जा चुका है। हत्याकांड को लेकर गांव में तनाव है।

पुलिस को ग्रामीणों का विरोध झेलना पड़ा

सूचना पाकर सीओ फुगाना, इंस्पेक्टर अनिल कपरवान फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। इस दौरान उन्हें ग्रामीणों के विरोध का भी सामना करना पड़ा। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने मौके पर पहुंचकर स्थिति संभाली है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो मुजफ्फरनगर की है। यहां गोलीकांड के घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है। क्षेत्र में तनाव है।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला