ट्रेन के आगे कूदकर जान देने की कोशिश की, शरीर दो हिस्सों में बंटा, चिल्लाकर बोला- बचा लो, 12 घंटे बाद मौत

कहते हैं कि जीवन और मृत्यु का समय निर्धारित है। इंसान चाहकर भी इसे टाल नहीं सकता। कुछ ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में देखने को मिला। यहां एक युवक ने सोमवार को ट्रेन के आगे कूदकर जान देने की कोशिश की। लेकिन उसका शरीर दो हिस्सों में बंट गया। हैरानी की बात ये है कि करीब 12 घंटे तक युवक जिंदगी और मौत से लड़ता रहा। युवक का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें वह कह रहा है कि इस हादसे में उसके किसी अपने की कोई गलती नहीं है। डॉक्टरों ने इलाज कर उसे बचाने की कोशिश भी की। लेकिन सारे प्रयास फेल हो गए। परिवार ने मृतक के शरीर के हिस्से का अंतिम संस्कार कर दिया। जबकि ऊपरी हिस्से को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

युवक को देखकर रोते बिलखते परिजन।

यह है पूरा मामला

रौजा थाना क्षेत्र के हथोड़ा बुजुर्ग गांव निवासी हर्षवर्धन (21 साल) एक स्कूल में टैक्सी चलाता था। वह सोमवार को अपनी मां से कुछ पैसे लेकर घर से निकला। इसके बाद करीब 11 बजे वह हथोड़ा स्टेडियम के पीछे रेलवे लाइन पर पहुंचा। जहां वह दिल्ली से लखनऊ जा रही एक ट्रेन से कट गया। इसी बीच लखनऊ की ओर से आई मालगाड़ी के ड्राइवर ने दोनों लाइनों के बीच में धड़ पड़ा देखा तो कंट्रोल रुम को सूचना दी। इसी बीच पुलिस ने मौके पर पहुंचकर देखा तो हर्ष पास ही नहर के पानी में पड़ा था और कह रहा था कि हमें बचा लो साहब हमने आत्महत्या की है। इसमें किसी का कोई दोष नहीं है।

घायल युवक को नहर से बाहर निकाला गया।

हर्ष के नाभि के नीचे का हिस्सा दो टुकड़ों में बंट गया था। उसके शरीर का एक हिस्सा रेलवे लाइन से घिसटकर नहर के पानी में चला गया था। जिससे उसके खून का बहाव रुक गया था। घटना के बाद पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से शरीर के दोनों हिस्सों को मेडिकल कॉलेज भिजवाया। जहां डाक्टरों ने इलाज शुरू किया। लगभग देर रात 12 बजे के बाद उसने दम तोड़ दिया। हालांकि उसके दोनों पैरों को पुलिस ने परिवार सौंप दिया था। जहां उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया था। लेकिन अब युवक के दम तोड़ने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

रेलवे लाइन पर पड़ा युवक के शरीर का निचला हिस्सा।

रात करीब 12 बजे युवक की मौत

मेडिकल कॉलेज की PRO पूजा त्रिपाठी पांडेय ने बताया कि सोमवार की सुबह करीब 11 बजे एक युवक का एक्सीडेंट हुआ था। उसको मेडिकल कॉलेज लाया गया। जहां ज्यादातर डाक्टर उसके इलाज में जुट गए थे, लेकिन युवक के कमर से नीचे का हिस्सा अलग हो चुका था। यही कारण है कि, उसके शरीर से खून का रिसाव कुछ ज्यादा हो गया था। रात करीब 12 बजे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो शाहजहांपुर की है। इस युवक का नाम हर्षवर्धन है। इसने ट्रेन के आगे कूदकर जान देने की कोशिश की। लेकिन उसका शरीर दो हिस्सों में कट गया। हर्षवर्धन करीब 12 घंटे जीवित रहा।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला