आगरा में भाजपा के पूर्व विधायक की पत्नी, 2 बेटों पर हत्या का मुकदमा दर्ज; 10 लाख के लेनदेन का है मामला

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में उत्तरी विधानसभा से भाजपा के पूर्व विधायक स्वर्गीय जगन प्रसाद गर्ग की पत्नी और 2 बेटों के खिलाफ कोर्ट के आदेश पर हत्या का केस दर्ज हुआ है। यह केस रिंग रोड निवासी प्रीति मित्तल ने पूर्व विधायक की पत्नी लक्ष्मी देवी और उनके दोनों बेटों सौरभ गर्ग, वैभव गर्ग पर अपने पति मनोज मित्तल की हत्या का आरोप लगाया था। प्रीति ने पुलिस द्वारा कोई ठोस एक्शन न लिए जाने के बाद कोर्ट की शरण ली थी। वहीं, पूर्व विधायक के परिवार वालों ने इस केस में खुद को बेगुनाह बताया है।

पूर्व विधायक ने 10 लाख रुपए लिए थे

थाना हरीपर्वत क्षेत्र के रिंग रोड खंडेलवाल कॉलोनी निवासी मनोज मित्तल का शव 18 फरवरी 2020 को मथुरा गोकुल बैराज पर मिला था। मृतक की पत्नी प्रीति मित्तल का कहना है कि उनके पति से जगन प्रसाद गर्ग ने 10 लाख रुपए की रकम जमीन के नाम पर लिए थे। कुछ समय बाद भाजपा विधायक की मौत हो गई। इसके बाद पति मनोज द्वारा विधायक के परिवार से अपना पैसा मांगा। लेकिन, पैसे नहीं लौटाए। जब कई बार पति ने तगादा किया तो उन्हें जान से मारने की धमकी दी।

जगन प्रसाद गर्ग उत्तरी विधानसभा से पांच बार विधायक रहे हैं। 10 अप्रैल को उनकी मौत हो गई थी।

पत्नी का आरोप- साजिशन पति की हुई हत्या

18 फरवरी 2020 को घर से मनोज मित्तल पैसे मांगने विधायक के घर गए, लेकिन लौटकर नहीं आए। उनका शव मथुरा गोकुल बैराज के पास मिला। प्रीति मित्तल का आरोप है कि पति की साजिश करके हत्या की गई है। उन्होंने पूर्व विधायक जगन प्रसाद गर्ग के बेटे सौरभ गर्ग, वैभव गर्ग व पत्नी लक्ष्मी देवी पर हत्या का आरोप लगाया। प्रीति ने कई बार थाने के चक्कर काटे। लेकिन, उनका केस दर्ज नहीं हो सका। उसके बाद प्रीति ने न्याय के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। अब इन तीनों के खिलाफ थाना लोहामंडी में मामला दर्ज करने का आदेश दिया। इस पूरे मामले में पुलिस विवेचना की बात कह रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मृतक मनोज मित्तल की तस्वीर के साथ उनके बेटे।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला