BHU के मेन गेट के बाहर शव रखकर प्रदर्शन, डायग्नोसिस सेंटर पर लापरवाही का आरोप

डायग्नोसिस सेंटर में इलाज के दौरान युवक की मौत के बाद परिजन ने जमकर हंगामा किया। शनिवार देर शाम परिजन ने शव को BHU के मेन गेट पर रखकर प्रदर्शन किया। आरोप है कि मृत आकाश कुमार का लंका स्थित निजी डायग्नोसिस सेंटर में सिटी स्कैन कराने आये थे। बाद में डॉक्टरों ने कोई इंजेक्शन लगा दिया जिसके 10 मिनट बाद आकाश की मौत हो गई। उधर, हंगामे की सूचना के बाद कई थानों की फोर्स, सीओ भेलूपुर ने समझाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

क्या था पूरा मामला

गुरुवार को कपसेठी थाना क्षेत्र के सरावा गांव के बच्चन राम अपने बेटे आकाश कुमार का सिटी स्कैन कराने लंका स्थित एक डायग्नोसिस सेंटर आये थे। परिजनों का आरोप है कि गलत इंजेक्शन के कारण आकाश की मौत हो गई। परिजन ने कहा कि मौत के बाद डॉक्टरों ने कहा कि मरीज की मौत हो गई है। ले जाकर दाह संस्कार कर दीजिए। इसके बाद जब परिजनों ने हंगामा किया तो शव को BHU मोर्चरी भिजवा दिया।

परिजन का कहना है कि गुरुवार से शनिवार हो गया लेकिन पोस्टमार्टम नहीं हुआ। उधर, हंगामे के बाद जब शनिवार शाम को बॉडी पोस्टमार्टम हाउस जा रही थी। परिजनों बॉडी को जबरदस्ती लेकर सिंह द्वार चले आये और प्रदर्शन शुरू कर दिया। परिजनों को न्याय दिलाने BHU के कई छात्र भी पहुंच गये। परिजनों का आरोप था कि पुलिस भी जानबूझकर कार्रवाई नहीं कर रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
परिजन शनिवार शाम को जब शव पोस्टमार्टम के लिए निकला तो स्टाफों से लेकर BHU सिंह द्वार पर प्रदर्शन को चले आये। मुख्य द्वार भी घंटो बंद रहा।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला