कानपुर प्राणी उद्यान पहुंचा बर्ड फ्लू: दर्शकों की इंट्री पर रोक, साफ-सफाई के साथ ही दवाओं के छिड़काव के निर्देश

उत्तर प्रदेश के कानपुर के प्राणि उद्यान में बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए उसे बंद करने का निर्देश दिया गया है। केंद्रीय मत्स्य मंत्रालय,पशुपालन और डेयरी की ओर से जारी की गई जांच रिपोर्ट ने 5 जनवरी को हुई पक्षियों की मौतों के पीछे की वजह बर्ड फ्लू बताई गई है। रिपोर्ट में बर्ड फ्लू पुष्टि होने के बाद कानपुर प्राणी उद्यान में हड़कंप मच गया है। आनन-फानन में अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक की तरफ से एक आदेश जारी कर प्राणी उद्यान को दर्शकों के लिए पूर्णत बन्द कर दिया गया है।

कानपुर के प्राणी उद्यान 5 जनवरी को सुबह बाड़े में 2 मुर्गों और 2 तोतों की मौत हो गई थी। इसकी जानकारी होने के बाद मौके पर पहुंचे प्राणि उद्यान के अधिकारियों ने बर्ड फ्लू (एवियन इन्फ्लुएंजा) के खतरे का अंदेशा हो गया था। आनन-फानन में बाहर से आने वाले चिकन पर पाबंदी लगाते हुए तत्काल सभी बाड़े में साफ सफाई के साथ-साथ दवाइयों का छिड़काव किया जाने के निर्देश दिए थे।

इसी के साथ मृत पक्षियों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भोपाल रिसर्च सेंटर भेजा दिया गया था। पक्षियों के बाड़े की मिट्टी और मल को भी जांच के लिए भेजा गया था। अन्य पक्षियों की सुरक्षा को देखते हुए प्राणी उद्यान प्रशासन ने बाड़े में मौजूद 6 मुर्गों को भी मरवा दिया था। उन्हें वैज्ञानिक तरीके से जमीन में दफना दिया था।

क्या बोले प्राणि उद्यान के डॉक्टर
प्राणि उद्यान के डॉक्टर एके सिंह ने बताया कि पक्षियों की मौत की पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हो गई है और इन सभी की मौत एच-5 स्ट्रेन यानी बर्ड फ्लू का सबसे खतरनाक वायरस होने की पुष्टि हुई है। जिसके चलते दर्शकों की सुरक्षा को देखते हुए प्राणि उद्यान को बंद किया जा रहा है।

इसी के साथ अन्य पक्षियों की सुरक्षा को देखते हुए सभी बाड़ों से रैंडम चेकिंग कर सैंपल लिया जाएगा और भोपाल रिसर्च सेंटर भेजा जाएगा। बाड़ों की दिन में तीन बार साफ-सफाई और दवा का छिड़काव करने के निर्देश दिए गए हैं।

क्या बोले अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक/निदेशक
अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक/निदेशक सुनील चौधरी ने बताया कि कानपुर प्राणी उद्यान में मृत हुए रेड जंगल फाउल की रिपोर्ट शनिवार देर रात प्राप्त हुई है। रिपोर्ट में एवियन इन्फ्लुएंजा (बर्ड फ्लू) की पुष्टि हुई है। जिसके कारण एवियन इन्फ्लुएंजा (बर्ड फ्लू) की गाइड लाइन एक्शन प्लान फॉर प्रेवेन्टेशन कन्ट्रोल एवं कंटेनमेंट आफ एविएन इन्फ्लूएंजा (रिवाइज्ड 2021) के चैप्टर 6 के अनुसार प्राणी उद्यान दर्शकों के लिए अग्रिम आदेशों तक पूर्णत बन्द किया जा रहा है। यह फैसला दर्शकों की सुरक्षा को देखते हुए लिया गया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
केंद्रीय मत्स्य मंत्रालय,पशुपालन और डेयरी की ओर से जारी की गई जांच रिपोर्ट ने 5 जनवरी को हुई पक्षियों की मौतों के पीछे की वजह बर्ड फ्लू बताई गई है।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला