मंदिर में प्रवेश करने से रोका, कारण पूछा तो सुरक्षाकर्मियों ने बच्ची को धक्का दिया, बुजुर्ग दंपती को जमकर पीटा

मथुरा में वृंदावन स्थित ठाकुर बांके बिहारी मंदिर में रविवार को प्रवेश को लेकर हुए विवाद में सुरक्षाकर्मियों ने बुजुर्ग दंपती को जमकर पीटा। दंपती जमीन पर गिर गए। इसके बाद भी सुरक्षाकर्मी उन पर लात घूंसे चलाते दिखे। मारपीट का वीडियो सामने आया है। इसके बाद पुलिस हरकत में आई है। मंदिर प्रबंधन द्वारा दोनों पक्षों में समझौते का प्रयास किया जा रहा है।

प्रवेश करने से रोका तभी शुरू हुई मारपीट

दरअसल, भगवान बांके बिहारी मंदिर में हर दिन हजारों लोग अपने अराध्य की एक झलक पाने के लिए आते हैं। नववर्ष पर दर्शनार्थियों की संख्या काफी बढ़ गई है। यहां रहने वाले सौरभ गोस्वामी ने बताया कि मेरी बेटी व परिवार के अन्य लोग मंदिर आए थे। सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें मंदिर में प्रवेश करने से रोका। सुरक्षाकर्मियों ने उन्हीं को मंदिर के भीतर प्रवेश दिया था, जिनसे उन्हें पैसा मिला था। धक्का देने के बाद विवाद बढ़ा है।

कहासुनी के बाद सुरक्षाकर्मी ने मेरी बच्ची को धक्का दे दिया। उसके कान से खून आ गया। इसके बाद देखते ही देखते विवाद मारपीट में बदल गया। सुरक्षाकर्मी लामबंद हो गए और बुजुर्ग दंपती के साथ जमकर मारपीट की। मंदिर के बीचो-बीच मारपीट से श्रद्धालुओं में अफरा तफरी मच गई। मौके पर मौजूद एक पुलिसकर्मी ने बीच बचाव का प्रयास भी किया। लेकिन बात नहीं बनी। मंदिर प्रबंधन ने किसी तरह दोनों पक्षों को समझा बुझाकर मामला शांत कराया।

गुड़गांव की एक कंपनी के पास आंतरिक सुरक्षा का जिम्मा

श्री बांकेबिहारी मंदिर में आंतरिक सुरक्षा का जिम्मा गुड़गांव की ग्रुप 4 निजी एजेंसी के पास है। लेकिन मंदिर के निजी सुरक्षाकर्मियों द्वारा श्रद्धालुओं से बदसलूकी के मामले आए दिन सामने आते हैं। कई बार मामला पुलिस तक पहुंच चुका है। लेकिन प्रसिद्ध मंदिर से जुड़ा होने के कारण मामला रफा दफा कर दिया जाता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो वृंदावन में बांके बिहारी मंदिर का है। यहां एक बुजुर्ग दंपती को सुरक्षाकर्मियों ने पीट दिया।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला