आंगनबाड़ी सहायिका की गैंगरेप के बाद हत्या; PM में प्राइवेट पार्ट में गहरे घाव के निशान का खुलासा

उत्तर प्रदेश के बदायूं में महिला के साथ निर्भया जैसी हैवानियत का मामला सामने आया है। पूजा करने गई 50 साल की आंगनबाड़ी सहायिका की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला के गुप्तांग में रॉड जैसी कोई चीज डालने का मामला सामने आया है। उसकी बाईं पसली, बायां पैर और बायां फेफड़ा भी वजनदार प्रहार से क्षतिग्रस्त कर दिया गया। परिजन की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी पुजारी समेत उसके एक चेले और ड्राइवर के खिलाफ गैंगरेप के बाद हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से दूर हैं।

मानवीयता को झकझोरने वाली यह सनसनीखेज वारदात उघैती थाना क्षेत्र के एक गांव की है। यहां की महिला पास के गांव स्थित एक मंदिर पर रोजाना की तरह रविवार को भी गई थी। मुकदमे के मुताबिक देर रात मंदिर का पुजारी अपनी बोलेरो से उसका शव घर के दरवाजे पर फेंककर चला गया। बताया जाता है कि इससे पहले आरोपी पुजारी उसे अपनी गाड़ी से इलाज के लिए चंदौसी भी ले गया था।

18 घंटे बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजी गया शव
परिजन ने सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगाया लेकिन उघैती के थानेदार रावेंद्र प्रताप सिंह ने परिजनों की फरियाद सुनना तो दूर घटनास्थल का मौका मुआयना तक नहीं किया। सोमवार की दोपहर 18 घंटे बाद लाश पोस्टमार्टम के लिए भेजी गई। महिला डॉक्टर समेत तीन डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया। शाम को रिपोर्ट आई तो पता चला कि महिला के प्राइवेट पार्ट में गंभीर घाव थे। काफी खून भी निकल गया था।

तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज

एसएसपी संकल्प शर्मा ने कहा कि उघैती थाना क्षेत्र में लगभग 50 साल की महिला का शव मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट और परिजनों की तहरीर पर तीन लोगों के खिलाफ हत्या व दुष्कर्म का मुकदमा लिखा गया है। नामजदों की गिरफ्तारी के लिए चार टीमें लगाई गईं हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यूपी के बदायूं जिले के उघैती थाना इलाके में एक 50 वर्षीय आंगनबाड़ी सहायिका के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

Comments

Popular posts from this blog

कोतवाली में हाथ जोड़कर मिन्नतें करती रही महिला, कोतवाल ने मारी लात, वीडियो वायरल

सेना के जवान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी के सबूत मिले, UP ATS की टीम कर रही कड़ी पूछताछ

अभिभावकों से वसूली पूरी फीस, कर्मचारियों का वेतन काट उन्हें निकाला